सोमवार, अगस्त 15, 2016

बच सकेगी हमारी स्वतंत्रता है।


आप सभी को भारत के पावन पर्व स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं...
जो नहीं कहते  वंदे मातरम,
पाकिस्तानी झंडा लहराते हैं,
जो दे रहे हैं देश को गाली
वो कौन है? वो कौन हैं?
जो पनाह देते हैं, आतंकवादियों को,
भारत को खंडित करना चाहते हैं,
अफजल की फांसी का विरोध करने वाले,
वो कौन है,? वो कौन हैं?
ये वोही है, जिनके कारण,
हमलावर देश में आये,
कई वर्षों तक  यहां जुल्म किये,
मंदिर तक भी गिराए।
न हिंदू हैं वो,
न वो मुस्लमान हैं,
न उन्होंने कभी गीता पढ़ी है,
न पढ़ी कुराण है।
जब तक जिवित हैं, जयचंद यहां,
भारत मां को खतरा है,
इनकी जडें उखाड़ फैंको,
बच सकेगी हमारी स्वतंत्रता है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को ७० वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|
    ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, "ब्लॉग बुलेटिन का स्वतंत्रता दिवस विशेषांक “ , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुभकामनाएं । सुन्दर रचना ।

    उत्तर देंहटाएं

ये मेरे लिये सौभाग्य की बात है कि आप मेरे ब्लौग पर आये, मेरी ये रचना पढ़ी, रचना के बारे में अपनी टिप्पणी अवश्य दर्ज करें...
आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ मुझे उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !