रविवार, जनवरी 26, 2014

आओ गण तंत्र दिवस मनाएं...



जलाकर लोकतंत्र की मशाल,
दिखता है भारत अब  खुशहाल,
आशा,  उमंग,  अमन का,
दे रहा  है संदेश मित्रता का।
भारत की सार्वभौमिकता
देखो कहीं मिटने न पाए,
इस शपत के साथ हम,
 आओ गण तंत्र  दिवस मनाएं...
सोच समझ कर, करो मतदान,
चुनाव ही है, लोकतंत्र के प्राण,
क्षेत्र, धर्म से ऊपर उठकर,
व्यक्ति नहीं,  देखो चरित्र,
निज स्वार्थ नहीं, देश को देखो,
जागो  स्वयम्, औरों को जगाएं,
इस शपत के साथ हम,
 आओ गण तंत्र  दिवस मनाएं...
मिटेगा जब भ्रष्टाचार,
न होगा कोई बेरोजगार,
न लेना, न देना रिशवत,
 अडीग  रहना, डरना मत,
कर न देना पड़ेगा किसी को,
अगर काला धन वापिस आ जाए,
इस शपत के साथ हम,
 आओ गण तंत्र  दिवस मनाएं...
हो भारत सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न,
प्रशस्त  हो प्रगति का पथ,
न्याय मिले, हर प्रकार की  हो स्वतंत्रता,
हो सब के लिये,   प्रतिष्ठा और अवसर की समता
खंडित न हो, राष्ट्र की एकता
लोकतंत्र को मजबूत बनाए,
इस शपत के साथ हम,
 आओ गण तंत्र  दिवस मनाएं...


10 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया प्रस्तुति-
    शुभकामनायें गणतंत्र दिवस की-
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएँ |

    जय हिन्द ... जय हिन्द की सेना ||

    ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन गणतंत्र दिवस और ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल सोमवार (27-01-2014) को "गणतन्त्र दिवस विशेष" (चर्चा मंच-1504) पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    ६५वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर रचना !
    ६५वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाऐं !

    उत्तर देंहटाएं
  5. अच्छा आह्वान है ... अच्छी रचना ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर देशभक्ति जगाती प्रेरक रचना ..

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर रचना. हार्दिक बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  8. आओ गण तंत्र दिवस मनाएं...
    सोच समझ कर, करो मतदान,
    चुनाव ही है, लोकतंत्र के प्राण,

    सार्थक संकल्प विमर्श परामर्श सुन्दर रचना। आभार हमें हलचल में लाने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं

ये मेरे लिये सौभाग्य की बात है कि आप मेरे ब्लौग पर आये, मेरी ये रचना पढ़ी, रचना के बारे में अपनी टिप्पणी अवश्य दर्ज करें...
आपकी मूल्यवान टिप्पणियाँ मुझे उत्साह और सबल प्रदान करती हैं, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !